कुंभ में खाने के लिए टॉयलेट कैफ़े जानें क्या है खास ।

    NEWS DESK (COBRA TELEVISION)  प्रयागराज में आयोजित कुभ के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने खास इंतजाम किए हैं। इस बार के कुंभ के लिए करीब 42 सौ करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है जो कि साल 2013 के मुकाबले में कुंभ में 3 गुना ज्यादा खर्च हुआ है।।                                                 प्रयागराज में इस बार का कुंभ अपनी भव्यता के लिए जाना जा रहा है ।दुनिया भर से श्रद्धालु आस्था के इस संगम में डुबकी लगाने आ रहे हैं ।इसी के मद्देनजर यहां सुविधाएं भी हाईटेक की गई है ।कुंभ क्षेत्र में एक टॉयलेट कैफिटेरिया बनाया गया है जो सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है ।इस कैफे में बैठने के लिए टॉयलेट की शक्ल में कुर्सियां लगाई गई है साथ ही अलग अलग संदेशों के जरिए टॉयलेट के महत्व को भी बताया गया है।  टॉयलेट कैफिटेरिया में पत्थर पर शीशा रखकर डायनिंग टेबल के जैसी लगाई गई है और इस टेबल पर भी पेंटिंग की गई है साथ ही चारों और कुर्सियां लगाई हुई है जोकि टॉयलेट सीट कमोड पर शीशा रखकर तैयार हुई है सभी कुर्सियों के पीछे टॉयलेट क्लीनर का एक डब्बा भी रखा गया है ।इसके अलावा हाथ धोने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले गंदे पानी के संग्रह और पीने के पानी के महत्व को भी तरह तरह के संदेशों के जरिए बताया गया है ।प्रयागराज में आयोजित कुभ के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने खास इंतजाम किए हैं ।इस बार कुंभ के लिए करीब 4200 करोड रुपए की राशि आवंटित की गई है जो कि साल 2013 के कुंभ के मुकाबले 3 गुना ज्यादा है। कुंभ में करीब 12 करोड़ लोगो के जुटने का अनुमान है ।यह भारत में अब तक का सबसे महंगा कुभ है और बजट की तुलना में आज तक कुंभ में इतना पैसा खर्च नहीं किया गया है ।कुंभ मेले की शुरुआत 15 जनवरी को शाही स्नान के साथ हो गई थी जो कि 4 मार्च तक चलेगा क्षेत्र करीब 32 किलोमीटर तक फैला हुआ है इस बार तकनीक के जरिए आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाएं आने वाले बच्चे लापता न हो इसके लिए पुलिस ने खास व्यवस्था की है यह आईडी लापता होने वाले बच्चों की खोजबीन में मदद करेगा ।इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों की मदद से पूरे कुंभ की निगरानी की जा रही है ।          (प्रयागराज से राजबीर नरवाल की रिपोर्ट )

2,426 total views, 3 views today