देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय कैंसर संस्थान झज्जर में बनकर तैयार। पहले चरण का काम लगभग पूरा ।【 EXCLUSIVE 】

    NEWS DESK ( COBRA TELEVISION )   राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का निर्माण 3 चरणों में हो रहा है। पहले चरण का काम लगभग पूरा हो चुका है पहले चरण के काम के बाद ढाई सौ मरीजों के लिए बेड की व्यवस्था की गई है। देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय कैंसर संस्थान झज्जर में बनकर तैयार हो गया है हालांकि अभी विधिवत उद्घाटन होना बाकी है ।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों फरवरी माह के शुरुआत में इसका विधिवत उद्घाटन होने की उम्मीद है ।राष्ट्रीय कैंसर संस्थान बाढ़सा में 300 एकड़ भूमि में फैले राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान संस्थान पार्ट 2 के एक हिस्से में बनाया गया है ।करीब 60 एकड़ में फैले राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में हर साल करीब 500000 मरीजों के उपचार की व्यवस्था की गई है।                                                                                                                                                                                         राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का निर्माण 3 चरणों में हो रहा है। पहले चरण का काम लगभग पूरा हो चुका है ।पहले चरण के काम के बाद ढाई सौ मरीजों के लिए बेड लगाए गए है ।फिलहाल हर रोज ओपीडी में करीब 80 से 100 मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। जिन्हें डॉक्टरी परामर्श के लिए रेडियोथैरेपी कीमोथेरेपी और आधुनिक सुविधाएं दी जा रही है। राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में डॉक्टरों की तैनाती कर दी गई है ।टेक्निकल और नॉन टेक्निकल स्टाफ भी 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात हो गया है। इसके उद्घाटन की तैयारियों के मद्देनजर कार्य को अंतिम रुप दिया जा रहा है ।ताकि जल्द से जल्द काम पूरा हो और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों राष्ट्रीय कैंसर संस्थान जनता को समर्पित किया जा सके।                                                                                                                                                                                                                                      कैसर संस्थान में आ रहे मरीज भी बेहद खुश हैं मरीजों के तीमारदारओं का कहना है कि इस तरह की व्यवस्था झज्जर में होने से ना केवल आसपास के लोगों को फायदा होगा बल्कि दूरदराज और दूर के प्रदेशों से आने वाले मरीजों को भी लाभ मिलेगा। बाढसा के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में अब तक सबसे अत्याधुनिक तकनीक की मशीनें उपलब्ध करवाई गई है लैब में हर रोज 7000 सैंपल की जांच की जा सकती है 25 मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर बनाए गए हैं ।आधुनिक बेड की व्यवस्था भी दी गई है ।राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का दूसरा चरण दिसंबर 2019 तक पूरा किया जाना है। जिसके पूरा होने के बाद की संख्या बढ़कर 500 हो जाएगी और उसके उसके बाद अंतिम चरण का काम 2020 तक पूरा किया जाएगा ।जिसके बाद राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में 710 मरीजों के लिए उपलब्ध हो जाएंगे प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के हल्के बादली  गांव में बनाया गया है। ।                                                                                                                                                           धनखड़ का कहना है कि राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के आने से यह इलाका बेहद तेजी से विकसित होगा ।और लोगों को इसका पूरा फायदा मिलेगा बाढसा के विश्व स्तरीय अत्याधुनिक राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में कैंसर के मरीजों का इलाज किया जाएगा। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी की जा रही है ।ताकि आने वाले 2 साल के अंदर-अंदर यहां पर मरीजों को सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगा ।राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में बोन मैरो ट्रांसप्लांट किया जाएगा। इसके इसके अलावा लगभग 100 तरह के कैंसर का इलाज यहां पर किया जाना है।                                  (बाढ़सा के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान से राजबीर नरवाल की रिपोर्ट)                                                                                          ( Follow us on  Facebook ,YouTube, twitter  or Instagram   @ Cobra Television )

3,780 total views, 3 views today