नवी मुंबई में दबंगों की गुंडागर्दी दो आदमीयों को बेरहमी से पीटा। पुलिस खामोश ।। रिपोर्ट : परमेश्वर सिंह नवी मुंबई ।।

* NEWS DESK (COBRA TELEVISION) MUMBAI 
नवी मुंबई:: कोपरखेरने सेक्टर 2 मे प्लाजा नामक बिल्डिंग में दो महिने पहले से मकान खरीद कर रहने आए व्यक्ति के साथ सोसायटी के दबंग सेक्रेटरी और चेयरमैन द्वारा दर निरंतर परेशान किए जाने का मामला सामने आया है। इतना ही नही बल्कि नए मेंबर के साथ बाहरी लोगों को बुलाकर गाली-गलौज व धमकी देकर उसे दबाने का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि अभियुक्त भुक्तभोगी गाली गलौज और धमकी दिए जाने के मामले को लेकर कोपरखैरने पुलिस थाने में शिकायत करके कार्रवाई करने की मांग की थी लेकिन पुलिस खामोश बैठी है । प्रार्थी के द्वारा दो बार शिकायत किए जाने के बावजूद भी सोसायटी के सेक्रेटरी रमाशंकर केसरवानी एवं चेयरमैन धीरज नामक ब्यक्ति के ऊपर कोई कार्रवाई का असर नही पड़ा और आए दिन धमकी देने का सिलसिला अभी भी शुरू है। आखिरकार पुलिस क्यों खामोश है, इन दबंगों पर कार्रवाई के बजाय उनकी ही मदद करने मे लगी है, यही कारण है कि सोसायटी के सेक्रेटरी और उनके कुछ साथी का हौशला बुलंद होता जा रहा है और गाली गलौज के साथ सोसायटी में रह रहे प्रार्थी अरूणेश मिश्रा को मारने की धमकी दी जा रही है।

बता दें कि कोपर खैरने सेक्टर-2 प्लाजा बिल्डिंग में अरूणेश मिश्रा द्वारा घर खरीदे जाने के बाद सोसायटी के पदाधिकारियों की गुंडागर्दी चरम सीमा पर शुरू हो गई। अरूणेश के मुताबिक सोसायटी के शेयर सार्टिफिकेट पर हस्ताक्षर, एवं सोसायटी में मेंबर शिप के लिए इनके पास समय नही रहता परंतु मेरे द्वारा गाड़ी सोसायटी के अंदर पार्क करने पर सोसायटी के सारे लोगों को समय भी मिल जाता है और नीचे एकत्रित होकर गाली गलौज एवं हांथ पैर तोड़ने की धमकी देने में जरा भी कसर नहीं छोड़ते हालाकि कहा जाए कि कोपरखैरने पुलिस का उन सोसायटी के दबंगों पर कोई भय या डर नही है। अभी हाल ही में यह विवाद कोपरखैरने पुलिस स्टेशन में पहुंचा तो वहां समझौते में सोसायटी के पदाधिकारी यह मान्य किया कि कार पार्किंग के लिए जगह दिया जाएगा। और जबकि सेक्रेटरी की 3 गाड़ी सोसायटी के अंदर पार्क होती है, इसी तरह सोसायटी के कई पदाधिकारी हैं जिनकी दो से तीन गाड़ियां सोसायटी के अंदर अवैध रूप से पार्क की जाती है। फिर एक कार पार्किंग को लेकर इतना बड़ा समस्या क्यो बनाया गया, सोसायटी के पदाधिकारियों ने बाहर के गुंडों को बुलाकर सोसायटी के नए मेंबर अरूणेश मिश्रा व उनके रिश्तेदार अमित शुक्ला पर जानलेवा हमला करवा दिया, जो कि बुरी तरह से जख्मी अमित शुक्ला को वाशी स्थित मनपा अस्पताल में भर्ती किया गया है, और हमला करने वाले आरोपियों को कोपरखैरने पुलिस लीपापोती कर बचाने में जुटी है। डॉक्टर के द्वारा फ्रैक्चर बताने के बाद जब शरीर के किसी भी अंग की हड्डी टूटने पर आईपीसी सेक्शन 294, 506, 323/ 34  का प्रावधान दिया गया है लेकिन पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने के बजाय उन्हें अपनत्व संरक्षण दे रही है। ना जाने पुलिस की इस करतूत के पीछे कितने लेन-देन का डील छिपा है एक तरफ नवी मुंबई कमिश्नर संजय कुमार के द्वारा अपराधों पर नियंत्रण करने के लिए सभी पुलिस कर्मचारियों को आदेशित किया गया है लेकिन कोपरखैरने पुलिस की स्वयं की कानून प्रक्रिया को देखते हुए सोसायटी और पुलिस की मिलीभगत पर कोपरखैरने पुलिस के कार्यशैली पर अंगुली उठना तो लाजमी है।

3,993 total views, 3 views today